Paash-Dehkade Angiyaran Te Saunde Rahe Ne Lok

दहकदे अंगारियां ते

 सोंदे.

ने संजीदा किया दर्शकों

को

Jan 14, 10:02 pm

मुक्तसर -तर्कशील सोसाइटी द्वारा बुधवार को मेले के दूसरे दिन मलोट रोड पर तर्कशील मेला लगाया गया जिसमें शहीद भगत सिंह के सपने के शहर बनाने के लिए लोगों को आगे आने को प्रेरित किया। सोसाइटी द्वारा लगाई पुस्तक प्रदर्शनी में भी मेला देखने के लिए आए लोग शहीद-ए-आजम भगत सिंह और पाश के कलेंडर खरीदने में व्यस्त रहे। ‘दहकदे अंगारियां ते सोंदे रहे ने लोग..’ पर कोरियोग्राफी ने दर्शकों को संजीदा कर दिया।

सर्वप्रथम चंडीगढ़ की नाटक मंडली स्कूल आफ ड्रामा द्वारा पेश किए गए नाटक ‘सरपंचनी..’ और ‘बेगमों की धी..’ को सभी ने सराहा। इसके बाद युग कवि पाश की गजल ‘दहकदे अंगारियां ते सोंदे रहे ने लोग..’ पर कोरियोग्राफी ने सभी को प्रभावित किया। वहीं लोक संगीत मंडली जीदा के कलाकारों ने लोकगीत और व्यंग्यात्मक बोलियों और टप्पों के जरिए लोगों का मनोरंजन किया। साथ ही जादू टोटके को दर्शाता गीत ‘लीडर दा पुत मरियां नी सरहंदा ते, मरदे लोग विचारे ने ढि़ड्डा दे मारे ..’ पेश किया गया। लोक चेतना मंडली डोहक के कलाकारों ने भी हाजिरी लगवाई।

लोगों को संबोधित करते हुए प्रसिद्ध नाटककार गुरशरण सिंह उर्फ भाई मन्ना सिंह ने एक समान समाज के सृजन के लिए भगत सिंह के विचारों को आगे लाने की जरूरत बताई। सोसाइटी के प्रांतीय मुखी राजिंदर भदौड़ ने लोगों को वैज्ञानिक सोच को अपनाने को प्रेरित किया। टोरंटो से आए नेता चरनजीत बराड़ खोटे ने जादू के भेद बताए। स्टेज संचालन राम स्वर्ण सिंह लक्खेवाली ने किया।

मेले को सफल बनाने में रणजीत मोंठावाली, प्रवीण जंडवाला, रमेश अरनीवाला, बूटा सिंह वाकफ, केसी रुपाणा और तरसेम लाल ने सहयोग दिया।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: